बंद कर दें नेलपॉलिश लगाना, नहीं तो हो सकती हैं कैंसर की शिकार

नेलपोलिश महिलाओं के श्रृंगार में शामिल चीज़ों में से एक है जो हर घर में बड़ी आसानी से मिल जाता है। महिलायें रोज अपने कपड़ों के हिसाब से नेलपॉलिश बदलती हैं। लेकिन रोज रोज नेलपॉलिश बदलना आपको मुसीबत में डाल सकता है।

जी हाँ, एक अंग्रेजी वेबसाइट में छपी खबर के अनुसार अमेरिका के डॉक्टर स्टीव का नया शोध कहता है कि नेलपॉलिश का इस्तेमाल करने वाली महिलाओं को घातक बीमारियां हो रही हैं क्योंकि नेलपॉलिश में इस्तेमाल होने वाले केमिकल उनके स्वास्थ्य पर सीधा असर डाल रहे हैं।

ज़रूर देखें: अभी तक बढ़ते है इस ममी (लाश) के बाल और नाखून

शोध के मुताबिक नेलपॉलिश में ट्रिफेन्यल फॉस्फेट होता है जो कि एक जहरीला पदार्थ है। लेकिन कंपनियां नेलपॉलिश की शीशी पर इस पदार्थ का जिक्र नहीं करती हैं। ट्रिफेन्यल फॉस्फेट का प्रयोग नेलपॉलिश को चमकीला बनाने के लिए होता है।

Can Nail Polish Cause Cancer

 

शोध में कहा गया है कि ट्रिफेन्यल फॉस्फेट ना केवल महिलाओं के दिमाग पर असर डालता है बल्कि ये तंत्रिका प्रणाली (nervous system) के लिए भी ठीक नहीं है। ट्रिफेन्यल फॉस्फेट को आप न्यूरो-टॉक्सिन कह सकते हैं क्योंकि ये सीधे ब्रेन को डैमेज करते हैं। ये महिलाओं के बैक-बोन को खराब करते हैं।

नेलपॉलिश में कुछ केमिकल ऐसे भी हैं जो कि कैंसर जैसे रोगों को पैदा करते हैं।
इसलिए शोध में कहा गया है कि सस्ते और लोकल नेलपॉलिशों के इस्तेमाल से बचें और हाई क्वालिटी की कास्मेटिक कंपनियों की नेलपॉलिश ही इस्तेमाल करें वो भी कभी-कभी क्योंकि हो सकता है आपका ये संजना-संवरना कहीं आपके जीवन का काल ही ना बन जाये।

LEAVE A REPLY