“घर में भूत तो नहीं है” पता लगाये अपने नए स्मार्ट फोन से

फोन के अलावा और भी डिवाइस है जो भूत के बारे में बता सकते है | नई दिल्ली पेरानोर्मल सोसाइटी के “गोरव तिवारी” एक ऐसे इंसान थे जो भूतो के मोजूद होने का पता लगा लेते थे | हाल ही हुई “गोरव” की मोंत को आत्महत्या बताया जा रहा है उनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी यही बताया जा रहा है “गोरव” सिर्फ पेरानोर्मल रिसर्चर ही नहीं थे बल्कि युएफो से सर्टिफाईड फिल्ड रिसर्चर भी थे | जो भूत पकड़ने का काम करती है ऐसी सिर्फ 10 में से 8 पेरानोर्मल सोसाइटीज है | ऐसे डिवाइस के बारे में तो जानिए जो इन सोसाइटीज द्वारा भूत खोजने में काम आती है –

images

 

मिस्टर घोस्ट

भूतो जैसी चीजो का पता लगाने के लिए “इलेक्ट्रोमेग्रेटिव फ़ोर्स डिटेक्टर” को अपने फोने के हेडफोन की जगह लगाइए | यह डिवायस आपके फोन में एक एप् के जरिये भूतो के रेडिएशन का पता लगाएगी | “मिस्टर घोस्ट” नाम की यह एप आप आईटीयून स्टोर से डाऊनलोड कर सकते है एमएफ ( इलेक्ट्रोमेग्रेटिव फ़ोर्स ) को फोन से कनेक्ट करके डिवाईस को उस दिशा की तरफ़ घुमाइए जिस तरफ आपको शक है यह डिवाइस वहां से आ रही रेडीएशन को पकड़ के आपको बतायेगा

डिजिटल रिकॉर्डर

आईवीपी कही जाने वाली इस मशीन को पेरानोर्मल इन्वेस्टिगेट्रस ने कई रहस्यमई आवाजे सुनने के लिए इस्तेमाल किया है इनका मानना है कि डिजिटल रिकॉर्डर से भूतो का पीछा किया जा सकता है |

इलेक्ट्रोमेग्रेटिव फील्ड मीटर

यह इएमएफ मीटर भूतो और आत्माओ की हलचल को ट्रेक कर लेता है | इनका मानना है कि मेग्रेटिव फील्ड को बदलने की ताकत परालोकिक शक्तियो में है और मेग्रेटिव फील्ड के बदलते ही हम भूतो और आत्माओ को ट्रेक कर सकते है इनके बीच यह डिवाइस बहुत फेमस है |

घोस्ट बॉक्स

इससे एमएम और एफएम भी कनेक्ट होते है और इसे पोर्टेबल रेडियो भी कहा जाता है | यह अपने मेसेज रहस्यमयी आवाजो की मदद से देती है इस डिवाइस को डिजिटल रिकॉर्डर भी कहा जाता है |

लेजर ग्रिड

आस-पास भूत या आत्मा होते ही यह लेजर जलने लगती है | इसका इस्तेमाल होने के साथ- साथ इसमें कैमरा और केम रिकॉर्डर भी लगाया जा सकता है | मार्केट में यह कई फीचर्स के साथ उपलब्ध है |

मोशन डिटेक्टर

नार्मल आँखों से जो आक्रति हम नहीं देख पाते है उसे देखने के लिए जीएचएम् डिटेक्टर और मोशन सेंसर का इस्तेमाल किया जाता है | इस डिवाइस के जरिये भूतो और आत्माओ का पता चल जाता है!

LEAVE A REPLY