मजहब की दीवार तोड़ इस नेता ने घरवालों के खिलाफ की थी अपनी प्रेमिका से शादी

कांग्रेस के सांसद सचिन पायलट की पब्लिक लाइफ के बारे में तो हम सभी लोग जानते हैं, यह कांग्रेस के दिग्गज युवा नेता है और मनमोहन सरकार में मंत्री भी रह चुके है. इनसे पहले इनके पहले इनके पिता स्व. राजेश पायलेट भी कांग्रेस के नेता थे और कैबिनेट मंत्री भी रह चुके थे. पिता राजेश पायलेट के मृत्यु के बाद सचिन पायलेट उनके राजनीतिक विरासत को लेकर आगे चल रहे हैं.

लेकिन कांग्रेस के इस युवा नेता की निजी जिंदगी भी किसी फिल्म की कहानी से कम नहीं हैं और उनकी इस कहानी की नायिका है सारा पायलट. इन दोनों की प्रेमकहानी भी काफी दिलचस्प और किसी फ़िल्मी कहानी से कम नहीं है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजेश पायलट के बेटे सचिन पायलट और कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्लाह की बेटी और उमर अब्दुल्लाह की बहन हैं. सारा की प्रेम कहानी के बीच भी मजहब की दीवार थी, जिसे इन दो प्रेमियों ने अपने प्यार से गिरा दिया.

Sachin Pilot and Sara Abdullah

सचिन और सारा की पहली मुलाकात विदेश में पढ़ाई के दौरान हुई. कश्मीर की खूबसूरत सारा को देखते ही सचिन उन्हें अपना दिल दे बैठे. पढ़ाई पूरी करने के बाद सचिन वापस दिल्ली लौट आए और सारा वहीं इंग्लैंड में रह गईं, लेकिन फोन पर दोनों की लंबी बातें हो रहीं और बाद में दोनों ने शादी का फैसला किया. दोनों भले ही राजनीतिक घरानों से ताल्लुक रखते हों, लेकिन मजहब इनके बीच दीवार बनकर खड़ी हो गई, दोनों के परिवार वाले इस शादी के लिए तैयार नहीं हुए.आखिरकार 2004 में सचिन और सारा ने घरवालों के खिलाफ जाकर शादी कर ली, लेकिन सारा के पिता फारुख अब्दुल्लाह इस शादी में शामिल नहीं हुए और उन्हें अकेले ही शादी करनी पड़ी. शादी के कई सालों के बाद सारा के परिवार वालों ने सचिन को दामाद के रूप में स्वीकार किया.

अब सचिन और सारा के दो बच्चे हैं. सारा एक एनजीओ चलाती हैं. सारा और सचिन की जोड़ी देश की सबसे खूबूसूरत और सेलेब्रेटी जोड़ियों में से एक मानी जाती है.

LEAVE A REPLY