एक माँ ने दिया 2 दिल ,4 कान और 4-4 पैर वाले एक बच्चें को जन्म

गुजरात के राजकोट में स्थित एक अस्पताल में 1 औरत ने ऐसे हेरतंगेस बच्चे को जन्म दिया हैं जिसके दो दिल,दो आंख,चार हाथ और चार पैर हैं.लेकिन वह नन्ही सी जन पैदा होते ही चल बसा.मेडिकल लैंग्वेज में इसे डाइसिफेलिक पैरापेगस और ऐसे बच्चे को कन्जॉइन्ड ट्विन्स या सियामीज बेबी कहा जाता है!एसी स्तिथि केवल 1 लाख प्रेग्नेंसी में किसी एक बच्चो में होती है!

डॉक्टर्स का कहना है,एसी स्थिति में गर्भ में जुड़वां बच्चे हों तो गर्भधारण  के तुरंत बाद (दो – तीन दिन)पार्टिशन हो जाना चाइये! लेकिन इस मामले में दो हफ्ते बाद भी गर्भ विभाजन की प्रक्रिया नही हो पाई! हलाकि यह प्रक्रिया लम्बी चलने के कारण दोनों बच्चें आपस में जुड़ गए!

GUJ-RAJ-OMC-siamese-twins-baby-born-in-rajkot

images source: bhaskar

कन्जॉइन्ड ट्विन्स,इनके जुढ़े शरीर को सर्जरी से अलग किया जाता है और यह सर्जरी बहुत महँगी और मुश्किल भी है!जादातर एसी सर्जरी की सफ़ल होने की संभावना बहुत की कम होती है, एसी स्तिथि केवल 1 लाख प्रेग्नेंसी में किसी एक बच्चो में होती है!

जरुर देखिये: जानिए कैसे बिना सेक्स भी बच्चें पैदा हो जायेंगे

डॉक्टर्स का कहना है की, इस बच्चे का सर और छाती जुड़े हुए थे। दो दिल,दो आंख,चार हाथ और चार पैर वाला ये बच्चा असामयिक था! इसलिये उसकी जान नही बचाई जा सकी!  माँ के गर्भ में सियामीज बेबी मान्य हो गया था, जिसके बारे में माँ और उसके परिवार वाले सब जानते थे की बच्चा जुदा हुआ है किंतु माँ की जान को खतरा होने के कारण समान्य वितरण हो पाना असंभव हो गया था इसलिये संचालनकरना पढ़ा!

सियामीज बेबी की प्रक्रिया – जब एक फर्टिलाइज्ड एग दो हिस्सों में बंटकर भिन्न भिन्न हो जाता है तो एक जैसे (आइडेंटिकल) ट्विन्स पैदा होते हैं। यह प्रक्रिया गर्भ अवस्था के 8 से12 वे सप्ताह के दोरान होती है, यदि यह समय 13 से 15 हफ्ते का हो जाए तो यह बच्चे पूरी तरह से अलग नही हो पाते है और माँ के गर्भ में उसी तरह विकसित होने लगते है!

RIP

LEAVE A REPLY