यहां हुआ दुनियां में पहला पेनिस ट्रांसप्लांट

आज तक तो आप सबने ऑर्गन ट्रांसप्लांट के कई केसेस के बारे में पढ़ा सुना होगा लेकिन ये पहला केस है पेनिस ट्रांसप्लांट यानी कि लिंग ट्रांसप्लांट का।

जी हाँ, अमेरिका में रहने वाले 64 साल के एक व्यक्ति का लिंग ट्रांसप्लांट हुआ है। थॉमस मैनिंग नाम के इस शख्स के पेनिस को कैंसर की वजह से हटाना पड़ा था।
बॉस्टन के मैसाचुसेट्स जनरल हॉस्पिटल में हुआ यह ऑपरेशन 8 और 9 मई को 15 घंटे तक चला।

Penis transplantation

इस ऑपरेशन को करने वाली टीम के प्लास्टिक  सर्जन डॉ. कर्टिस एल सेट्रुलो ने बताया कि अगर सबकुछ ठीक रहा तो कुछ हफ्तों में ही मैनिंग पहले की तरह ही पेशाब कर पाएंगे। उन्हें सेक्स करने लायक बनने में कुछ हफ्तों से कुछ महीनों तक का समय लग सकता है। उन्होंने कहा, ‘इस ऑपरेशन को लेकर हम ऐहतियात के साथ आशान्वित हैं।’

सर्जरी होने के बाद मैनिंग ने कहा, ‘मैं फिर वैसा ही बनना चाहता हूं, जैसा मैं पहले था।’ उन्होंने बताया कि सर्जरी से उन्हें कोई दर्द  या तकलीफ नहीं हुई । उन्हें सर्जरी के लिए पेनिस एक मृत डोनर से मिला।

यह सर्जरी उस रिसर्च कार्यक्रम का एक हिस्सा है, जिसका मकसद कैंसर या ऐक्सिडेंट की वजह से गुप्तांग खो चुके लोगों की मदद करना है। इसमें 33 से 50 लाख रुपये तक का खर्च होता है।

इससे पहले साल 2006 में चीन में भी एक लिंग ट्रांसप्लांट किया गया था पर वह असफल रहा था।

LEAVE A REPLY